नई दिलà¥à¤²à¥€ [जागरण सà¥à¤ªà¥‡à¤¶à¤²]। 9 अगसà¥à¤¤ से दिलà¥à¤²à¥€ सà¥à¤¥à¤¿à¤¤ अखिल भारतीय आयà¥à¤°à¥à¤µà¤¿à¤œà¥à¤žà¤¾à¤¨ संसà¥à¤¥à¤¾à¤¨ (All India Institute of Medical Sciences) में भरà¥à¤¤à¥€ भारतीय जनता पारà¥à¤Ÿà¥€ के वरिषà¥à¤  नेता और पूरà¥à¤µ केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ मंतà¥à¤°à¥€ अरà¥à¤£ जेटली ने शनिवार को दà¥à¤¨à¤¿à¤¯à¤¾ को अलविदा कह दिया। à¤à¤®à¥à¤¸ में भरà¥à¤¤à¥€ रहने के दौरान उनà¥à¤¹à¥‹à¤‚ने 15 दिन तक जिंदगी की जंग लड़ी और मौत को मात देने की कवायद में जà¥à¤Ÿà¥‡ रहे, लेकिन शनिवार को पूरà¥à¤µ केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ मंतà¥à¤°à¥€ अरà¥à¤£ जेटली जिंदगी की जंग हार गठऔर उनका निधन हो गया।

(0:32)
0:01/0:32

यह महज इतà¥à¤¤à¥‡à¤«à¤¾à¤• है कि अगसà¥à¤¤, 2018 से लेकर अगसà¥à¤¤, 2019 तक à¤à¤• साल से भी कम समय में देश ने तकरीबन दरà¥à¤œà¤¨ भर दिगà¥à¤—ज नेताओं को खो दिया है। इनमें जà¥à¤¯à¤¾à¤¦à¤¾à¤¤à¤° नेता कांगà¥à¤°à¥‡à¤¸ (Congress) और भारतीय जनता पारà¥à¤Ÿà¥€ (Bhartiay Janta Party) से जà¥à¤¡à¤¼à¥‡ थे और इन सभी ने किसी-न-किसी रूप में इतिहास रचा। इनमें सबसे बड़ा नाम भारत रतà¥à¤¨ और पूरà¥à¤µ पà¥à¤°à¤§à¤¾à¤¨à¤®à¤‚तà¥à¤°à¥€ अटल बिहारी वाजपेयी का है, जिनका निधन 16 अगसà¥à¤¤, 2018 को दिलà¥à¤²à¥€ के à¤à¤®à¥à¤¸ में ही हà¥à¤† था। इसके बाद मदन लाल खà¥à¤°à¤¾à¤¨à¤¾, शीला दीकà¥à¤·à¤¿à¤¤, मनोहर परà¥à¤°à¤¿à¤•à¤°, जयपाल रेडà¥à¤¡à¥€, सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ, नारायण दतà¥à¤¤ तिवारी, जगनà¥à¤¨à¤¾à¤¥ मिशà¥à¤°à¤¾, बाबू लाल गौर और शनिवार को अरà¥à¤£ जेटली ने भी à¤à¤®à¥à¤¸ में अंतिम सांस ली।

भाजपा के तीन पूरà¥à¤µ केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ समेत और à¤à¤• सीà¤à¤® का अगसà¥à¤¤ महीने में निधन
यह मजह इतà¥à¤¤à¥‡à¤«à¤¾à¤• है कि इस साल अगसà¥à¤¤ महीने में ही तीन पूरà¥à¤µ केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ मंतà¥à¤°à¤¿à¤¯à¥‹à¤‚ (मनोहर परà¥à¤°à¤¿à¤•à¤°, सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ और अरà¥à¤£ जेटली) का निधन हà¥à¤†, जबकि बाबू लाल गौर का निधन भी अगसà¥à¤¤ महीने में हà¥à¤†à¥¤ बता दें कि मूलरूप से उतà¥à¤¤à¤° पà¥à¤°à¤¦à¥‡à¤¶ के पà¥à¤°à¤¤à¤¾à¤ªà¤—ढ़ के रहने वाले बाबू लाल गौर ने मधà¥à¤¯ पà¥à¤°à¤¦à¥‡à¤¶ का मà¥à¤–à¥à¤¯à¤®à¤‚तà¥à¤°à¥€ बनकर à¤à¤• इतिहास ही रचा था।

वहीं, बिहार के पूरà¥à¤µ सीà¤à¤® जगनà¥à¤¨à¤¾à¤¥ मिशà¥à¤°à¤¾ का निधन 19 अगसà¥à¤¤ को दिलà¥à¤²à¥€ के दà¥à¤µà¤¾à¤°à¤•à¤¾ में हà¥à¤† था। उनà¥à¤¹à¥‡à¤‚ बिहार में तीन बार मà¥à¤–à¥à¤¯à¤®à¤‚तà¥à¤°à¥€ रहने का रà¥à¤¤à¤¬à¤¾ हासिल था।

28 जà¥à¤²à¤¾à¤ˆ को हà¥à¤† केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ मंतà¥à¤°à¥€ जयपाल रेडà¥à¤¡à¥€ का निधन
पूरà¥à¤µ केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ मंतà¥à¤°à¥€ और कांगà¥à¤°à¥‡à¤¸ के वरिषà¥à¤  नेता जयपाल रेडà¥à¤¡à¥€ (Jaipal Reddy) का पिछले महीने 28 जà¥à¤²à¤¾à¤ˆ को हैदराबाद में निधन हो गया। पूरà¥à¤µ केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ मंतà¥à¤°à¥€ जयपाल रेडà¥à¤¡à¥€ पिछले कई दिनों से खराब सà¥à¤µà¤¾à¤¸à¥à¤¥à¥à¤¯ की समसà¥à¤¯à¤¾ से गà¥à¤œà¤° रहे थे। उनके निधन पर राजà¥à¤¯à¤¸à¤­à¤¾ में शà¥à¤°à¤¦à¥à¤§à¤¾à¤‚जली देने के दौरान उपराषà¥à¤Ÿà¥à¤°à¤ªà¤¤à¤¿ वेंकैया नायडॠरो पड़े थे।

7 पूरà¥à¤µ सीà¤à¤® का à¤à¤• साल से भी कम समय में निधन
इनमें पांच, नारायाण दतà¥à¤¤ तिवारी, मदन लाल खà¥à¤°à¤¾à¤¨à¤¾, शीला दीकà¥à¤·à¤¿à¤¤, सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ (दिलà¥à¤²à¥€), जगनà¥à¤¨à¤¾à¤¥ मिशà¥à¤°à¤¾ (बिहार) और बाबू लाल गौर (मधà¥à¤¯ पà¥à¤°à¤¦à¥‡à¤¶)  के सीà¤à¤® रह चà¥à¤•à¥‡ थे। इनमें सबसे बड़ा नाम तो नारायण दतà¥à¤¤ तिवारी का था, जिनà¥à¤¹à¥‹à¤‚ने इस लिहाज से इतिहास रचा था कि वे दो राजà¥à¤¯à¥‹à¤‚ (उतà¥à¤¤à¤° पà¥à¤°à¤¦à¥‡à¤¶ और उतà¥à¤¤à¤°à¤¾à¤‚खड) के सीà¤à¤® रहे इकलौते भारतीय नेता था। अब तक यह रिकॉरà¥à¤¡ उनà¥à¤¹à¥€à¤‚ के नाम है।

इमानदारी की मिसाल माने जाने वाले गोवा के सीà¤à¤® रहे मनोहर परà¥à¤°à¤¿à¤•à¤° का भी निधन 17 मारà¥à¤š, 2019 को हà¥à¤†à¥¤ उनà¥à¤¹à¥‹à¤‚ने रकà¥à¤·à¤¾à¤®à¤‚तà¥à¤°à¥€ के तौर पर अपनी अहम भूमिका निभाई।

दिलà¥à¤²à¥€ से जà¥à¤¡à¤¼à¥‡ 4 बड़े नेताओं का निधन
दिलà¥à¤²à¥€ से जà¥à¤¡à¤¼à¥‡ तीन बड़े नेताओं शीला दीकà¥à¤·à¤¿à¤¤ (20 जà¥à¤²à¤¾à¤ˆ), सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ (6 अगसà¥à¤¤) और अरà¥à¤£ जेटली (24 अगसà¥à¤¤) का निधन हà¥à¤†à¥¤ इनमें दो (शीला दीकà¥à¤·à¤¿à¤¤ और सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ) नेता तो दिलà¥à¤²à¥€ के पूरà¥à¤µ सीà¤à¤® रह चà¥à¤•à¥‡ थे, जबकि अरà¥à¤£ जेटली 1999 से 2012 तक दिलà¥à¤²à¥€ à¤à¤µà¤‚ जिला कà¥à¤°à¤¿à¤•à¥‡à¤Ÿ संघ (Delhi and District Cricket Association)  के अधà¥à¤¯à¤•à¥à¤· भी रहे।

माना जाठतो à¤à¤• साल के भीतर दिलà¥à¤²à¥€ ने तीन नहीं चार बड़े नेताओं (मदन लाल खà¥à¤°à¤¾à¤¨à¤¾, शीला दीकà¥à¤·à¤¿à¤¤, सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ और अरà¥à¤£ जेटली) को खोया है, जिनका राजà¥à¤¯ सà¥à¤¤à¤° पर ही नहीं, बलà¥à¤•à¤¿ राषà¥à¤Ÿà¥à¤°à¥€à¤¯ सà¥à¤¤à¤° की राजनीति में भी दखल था। चारों ही केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ मंतà¥à¤°à¥€ रहे चà¥à¤•à¥‡ थे।

दो नेताओं ने की थी डीयू से पढ़ाई
इनमें अरà¥à¤£ जेटली और शीला दीकà¥à¤·à¤¿à¤¤ ने तो दिलà¥à¤²à¥€ विशà¥à¤µà¤µà¤¿à¤¦à¥à¤¯à¤¾à¤²à¤¯ (Delhi university) से पढ़ाई की थी। केंदà¥à¤° में वितà¥à¤¤ मंतà¥à¤°à¥€ जैसा अहम महकमा संभालने वाले अरà¥à¤£ जेटली ने तो दिलà¥à¤²à¥€ विशà¥à¤µà¤µà¤¿à¤¦à¥à¤¯à¤¾à¤²à¤¯ छातà¥à¤° संघ (Delhi University Students Union) से राजनीति के करियर की शà¥à¤°à¥à¤†à¤¤ की थी।

तीन का जनà¥à¤® पंजाब में, बाद में बने दिलà¥à¤²à¥€ के सीà¤à¤®
मदन लाल खà¥à¤°à¤¾à¤¨à¤¾, शीला दीकà¥à¤·à¤¿à¤¤ और सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ तीनों का रिशà¥à¤¤à¤¾ पंजाब से रहा था। जहां सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ का जनà¥à¤® अंबाला (फिलहाल हरियाणा में, विभाजन से पहले यह पंजाब में था) में हà¥à¤† तो शीला दीकà¥à¤·à¤¿à¤¤ का जनà¥à¤® पंजाब के कपूरथला में हà¥à¤† था। वहीं, मदन लाल खà¥à¤°à¤¾à¤¨à¤¾ का जनà¥à¤® पंजाब (पाकिसà¥à¤¤à¤¾à¤¨) में हà¥à¤† था। बाद में तीनों की दिलà¥à¤²à¥€ के मà¥à¤–à¥à¤¯à¤®à¤‚तà¥à¤°à¥€ बने।

मदनलाल खà¥à¤°à¤¾à¤¨à¤¾ और सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ का रात को हà¥à¤† निधन
यह महज संयोग है कि भाजपा से जà¥à¤¡à¤¼à¥‡ दोनों मà¥à¤–à¥à¤¯à¤®à¤‚तà¥à¤°à¤¿à¤¯à¥‹à¤‚ (मदन लाल खà¥à¤°à¤¾à¤¨à¤¾ और सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ) का निधन रात को हà¥à¤†à¥¤ जब मदन लाल खà¥à¤°à¤¾à¤¨à¤¾ ने 27 अकà¥à¤Ÿà¥‚बर को अंतिम सांस ली तो वह दिन शनिवार का था और समय रात का था। वहीं, सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ का निधन भी रात को ही हà¥à¤†à¥¤

शीला, मदन लाल खà¥à¤°à¤¾à¤¨à¤¾ और अरà¥à¤£ जेटली का शनिवार को हà¥à¤† निधन
यह भी महज संयोग है कि शीला दीकà¥à¤·à¤¿à¤¤, मदन खà¥à¤°à¤¾à¤¨à¤¾ और अरà¥à¤£ जेटली का जिस दिन निधन हà¥à¤† वह दिन शनिवार ही था।

शीला, मदन लाल खà¥à¤°à¤¾à¤¨à¤¾, मनोहर परà¥à¤°à¤¿à¤•à¤° और सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ चारों रहे केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ मंतà¥à¤°à¥€
यह भी संयोग अजब है कि चारों ही केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ मंतà¥à¤°à¥€ रहे। जहां शीला दीकà¥à¤·à¤¿à¤¤ सीà¤à¤® बनने से पहले केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ मंतà¥à¤°à¥€ बनीं तो सà¥à¤·à¤®à¤¾ सà¥à¤µà¤°à¤¾à¤œ और मदनलाल खà¥à¤°à¤¾à¤¨à¤¾ पूरà¥à¤µ मà¥à¤–à¥à¤¯à¤®à¤‚तà¥à¤°à¥€ होने के बाद केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ मंतà¥à¤°à¥€ के पद पर रहे। वहीं, मनोहर परà¥à¤°à¤¿à¤•à¤° गोवा के कई बार सीà¤à¤® रहे फिर केंदà¥à¤°à¥€à¤¯ मंतà¥à¤°à¥€ रहने के बाद फिर से सीà¤à¤® का पद संभाला।